क्या नाज़ियों के पास थी भूतकाल में देखने की शक्ति | Top 5 Mysterious Nazi Experiments and Inventions - in Hindi

क्या नाज़ियों के पास थी भूतकाल में देखने की शक्ति | Top 5 Mysterious Nazi Experiments and Inventions - in Hindi

क्या नाज़ियों के पास थी भूतकाल में देखने की शक्ति

इतिहास के पन्नो में छुपे हुए, कुछ अध्याय ऐसे भी हैं रहस्य की चादर में लिपटे हुए हैं, ये वो समय है जब इस दुनिया कई रहस्यमय आविष्कार और खोज हुए| इतिहास के इन्ही रहस्यों से भरे पन्नो का एक अध्याय है नाज़ी काल (Nazi Era), विश्व युद्ध का समय जब सम्पूर्ण दुनिया इस युद्ध की त्रासदी और विभीषिका से जूझ रही थी, उसी समय नाज़ी वैज्ञानिक कुछ ऐसे रहस्यमय प्रयोग और आविष्कार करने की फिराक में थे जीससे वो दुनिया को अपने कदमो में झुका सकें|

डाई ग्लॉक (द बेल) | Die Glocke (The Bell)

डाई ग्लॉक", जिसका अनुवाद "द बेल" है, एक रहस्यमय और गूढ़ उपकरण है जिसके बारे में कहा जाता है कि इसे द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजी जर्मनी द्वारा विकसित किया गया था। माना जाता है की Die Glocke एक एंटी ग्रेविटी डिवाइस थी जो एक रहस्यमयी अलौकिक उर्जा पर चलती थी जिसे Vril Energy कहा जाता था| यह सुदूर अंतरिक्ष में तेजी से यात्रा करने के लिए बनाई गयी थी, यह स्पेस टाइम फैब्रिक में बदलाव करके वर्म होल से यात्रा करने में सक्षम थी|

1

हिमेल्सवैगन (स्वर्ग की कार) | The Himmelswagen (Heavenly Car)

हिमल्सवैगन, जिसे "हेवेनली कार" के नाम से भी जाना जाता है, रहस्य में डूबी एक परियोजना है और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजी जर्मनी द्वारा किए गए गुप्त प्रयोगों से जुड़ी है, यह विशेष रूप से कुख्यात डाई ग्लॉक परियोजना से जुड़ी हुयी है। प्राप्त विवरणों के अनुसार यह भी डाई ग्लॉक की तरह एक एंटी ग्रेविटी डिवाइस थी, जिसे अविश्वसनीय तेजी के साथ दुश्मनों पर हमला करने के लिए डिजाईन किया गया था

2

क्रोनोवाइजर | The Chronovisor

क्रोनोवाइजर एक कथित उपकरण है, जिसका अस्तित्व रहस्य और विवाद में डूबा हुआ है। दावा किया जाता है कि यह एक ऐसी मशीन है जो अतीत की घटनाओं को देखने में सक्षम है|  माना जाता है की ये डिवाइस आज भी वैटिकन सिटी के गुप्त तहखानो में कहीं बंद है|

3

सोनेंजवेहर (सन गन) | The Sonnengewehr (Sun Gun)

सोनेंगवेहर, जिसे "सन गन" के नाम से भी जाना जाता है, एक अवधारणा है जिसने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान कुख्याति प्राप्त की। यह नाज़ी शासन द्वारा प्रस्तावित एक महत्वाकांक्षी और काल्पनिक परियोजना थी, यह एक ऐसा भयानक हथियार था जो सूर्य की असीम शक्ति को एक ही जगह केन्द्रित कर सकता था, इससे इतनी गर्मी और उर्जा निकलती जो पुरे के पूरे शहर को पल भर में जला कर राख कर देती| हालाँकि इस विध्वंसकारी सुपर वेपन को कभी बनाया नहीं जा सका, इससे पहले ही विश्व युद्ध में नाज़ियों की पराजय हो गयी|

4

नाज़ी उड़न तश्तरी (व्रिल डिस्क) | The Nazi Flying Saucer (Vril Discs)

नाज़ी फ्लाइंग सॉसर या व्रिल डिस्क कथित उन्नत विमान डिज़ाइनों को संदर्भित करता है जिन्हें कथित तौर पर द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान Third Reich द्वारा विकसित किया गया था। इन सिद्धांतों के समर्थकों का दावा है कि नाजी वैज्ञानिक एंटी-ग्रेविटी प्रिंसिपल और अलौकिक ऊर्जा स्रोतों सहित क्रांतिकारी प्रोपल्शन टेक्नोलॉजीज का प्रयोग कर रहे थे।

5

इसी प्रकार अन्य अद्भुत और रहस्यमयी जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें|